होम Top News चीन हमारी सीमा से पीछे हटा, पीएम मोदी को देश से माफी...

चीन हमारी सीमा से पीछे हटा, पीएम मोदी को देश से माफी मांगनी चाहिए- कांग्रेस

New Delhi: भारत की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) ने लद्दाख पर मोर्चा संभालते हुए शीर्ष अधिकारियों से चर्चा की और उसके बाद चीन की सेना गलवान घाटी से पीछे हटने को मजबूर हुई। इस मामले में कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा (Congress pawan Khera) ने पीएम से माफी मांगने को कहा है।

पवन खेड़ा (Congress pawan Khera) ने कहा है कि पीएम मोदी (PM Narendra Modi) अपने पुराने बयान पर माफी मांगे, जिसमें उन्होंने कहा था कि चीन हमारी सीमा के भीतर नहीं घुसा।

कांग्रेस का सरकार पर हमला

गौरतलब है कि चीन ने आधिकारिक बयान जारी करके कबूल किया है कि भारत के साथ बढ़ते तनाव को कम करने के लिए उसने अपनी सेना को पीछे हटाने का फैसला किया है। जिस पेट्रोलिंग प्वाइंट 14 को लेकर दोनों देशों की सेना आमने-सामने थी, वहां से दोनों के जवान कुछ किलोमीटर पीछे खिसक चुके हैं। अब इस मामले में कांग्रेस ने नई मांग रख दी है। कांग्रेस का कहना है कि पीएम पिछले बयान पर माफी मांगे और खुद प्रधानमंत्री या रक्षा मंत्री देश की जनता के सामने आकर इस स्थिति को साफ करें कि अभी लद्दाख में क्या स्थिति है।

पीएम मोदी से माफी की मांग

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा यहीं पर नहीं रूके। उन्होंने कहा, ‘उन्होंने ये भी कहा कि ‘पीएम मोदी को इस मौके का फायदा उठाना चाहिए….राष्ट्र को संबोधित करना चाहिए, देश को विश्वास में लेना चाहिए, देश से माफी मांगनी चाहिए….कहें कि हां मुझसे गलती हो गई। मैंने आपको गुमराह किया या वो कोई दूसरे शब्दों का इस्तेमाल कर सकते हैं कि अपने आकलन में मैं गलत था। ‘

पीएम मोदी के पुराने बयान पर घेरा

दरअसल पूर्वी लद्दाख इलाके में स्थित गलवान घाटी में बीती 5 मई से ही दोनों देशों के बीच गतिरोध की स्थिति बनई हुई थी। 15 जून को दोनों देशों के जवानों के बीच खूनी संघर्ष हो गया और इस संघर्ष में दोनों ही देशों के नुकसान हुआ। उसके बाद पीएम मोदी ने बयान दिया था। अब कांग्रेस पीएम मोदी से उनके पुराने बयान के लिए माफी मांगने को कहा है, जिसमें उन्होंने कहा था कि न तो कोई भारतीय इलाके में आया है और न ही किसी ने भारतीय सेना के किसी पोस्ट को कब्जा ही किया है।

सेना को किसी सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं- खेड़ा

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा है कि, ‘हमारी बहादुर सेना चाइनीज पीएलए को पीछे ढकेलने की कोशिश कर रही है और हम ये रिपोर्ट देखकर खुश हैं कि हम सफल हो गए हैं। हमें अपनी सेना पर गर्व है। सेना की क्षमता को लेकर तो हमारे मन में कभी कोई शंका ही नहीं रही है। उन्होंने पहले भी ऐसा किया है….चाहे वो पाकिस्तान हो या चीन….हमारी सेना को किसी की सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है।’

पीएम मोदी स्पष्ट करें

कांग्रेस ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री को देश को बताना चाहिए कि, ‘चाइनीज X (कितने किलोमीटर) किलोमीटर पीछे हट गए हैं’ और स्पष्ट करें ‘हमारा कितना इलाका अभी भी उनके कब्जे में है।’ खेड़ा ने कहा कि ‘सभी 6 या 7 प्वाइंट जिसके बारे में पढ़ रहे हैं…..उन्हें (पीएम मोदी) बाहर आना चाहिए और देश को विश्वास में लेकर स्पष्ट करना चाहिए कि न केवल उनका पिछला बयान दुर्भाग्यपूर्ण था, बल्कि हमारा कितना इलाका अभी भी उनके कब्जे में है, वो कितनी दूर तक आ गए थे और अब वे अब कितनी दूर पीछे हटे हैं।’ वे बोले कि या तो प्रधानमंत्री या रक्षा मंत्री को देश को बताना चाहिए कि ‘लद्दाख बोर्डर पर कैसे हालात हैं।’

पूरा मामला

लद्दाख के गलवान घाटी से चीनी सैनिकों को पीछे धकेलने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने सबसे मजबूत कूटनीतिक हथियार का प्रयोग किया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्र ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल (Ajit Doval) को मोर्चे पर लगा दिया था और उन्होंने रविवार को चीनी समकक्ष वांग यी के साथ करीब दो घंटे तक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक की थी। भारत के सख्त रुख के बाद चीन के पास पीछे हटने का चारा भी नहीं था। भारत ने ड्रैगन को चौतरफा घेर रखा था। चीन के 59 ऐप्स पर बैन के बाद चीन पूरी तरह से हिल गया था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कोहली की 183 रनों पारी को गौतम गंभीर ने बताया बेस्ट.. जब PAK गेंदबाजों की उड़ाईं धज्जियां

New Delhi: इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज और पूर्वी दिल्ली के सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने टीम इंडिया के कप्तान विराट...

अब फिल्म, वेब सीरीज में सेना को दिखाने के लिए रक्षा मंत्रालय से लेना होगा NOC

New Delhi: यूं तो भारतीय सेना से जुड़ी फिल्में (Armed Forces in Films & Web Series) दर्शकों को देशभक्ति से लभालभ कर देती हैं,...

राम मंदिर भूमि पूजनः सामने आने लगे मेहमानों के नाम, देखिए निमंत्रण पत्र

New Delhi: राम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन को लेकर अयोध्या में खासा उत्साह है। खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र...

PM मोदी ने अमर सिंह के निधन पर जताया दुख, जानिए BJP के कट्टर विरोधी से वह कैसे बने नमो के मुरीद

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा सांसद अमर सिंह (Demise of Amar Singh) के निधन पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा...

Recent Comments